पुलिस का दावा- असम की महिला भाजपा नेता की हत्या उसके साथी ने ही की


पुलिस ने मंगलवार को कहा कि असम के गोलपारा जिले की एक महिला भाजपा नेता जोनाली नाथ, जिसका शव रविवार रात हाईवे के बगल में मिला था, उसकी हत्या उसके साथी हसनूर इस्लाम ने कर दी। पुलिस ने सोमवार शाम हसनूर को हिरासत में लिया।

आपराधिक जांच विभाग (सीआईडी) ने कहा कि मृत महिला का दो साल से अधिक समय से हसनूर के साथ संबंध था।

हसनूर गोलपारा के मटिया इलाके में कांग्रेस के वार्ड सदस्य हैं, जबकि जोनाली ने गोलपारा में भाजपा के जिला सचिव के रूप में काम किया है।

जोनाली शादीशुदा थी और दो साल पहले वह हसनूर के साथ अवैध संबंध में बंध गई थी।

सीआईडी के महानिरीक्षक देबराज उपाध्याय ने कहा कि हसनूर इस्लाम ने पूछताछ के दौरान जोनाली के साथ दो साल से अधिक समय तक संबंध रखने की बात स्वीकार की है, लेकिन कहा कि उसने हाल ही में एक अन्य महिला से शादी कर ली थी, जिससे जोनाली परेशान थी और उससे अक्सर झगड़ती रहती थी।

उपाध्याय ने कहा कि हसनूर ने भी माना कि रविवार की रात जोनाली उससे मिलने आई थी। उसने उसे अपनी कार में बिठा लिया। इसके बाद कार के अंदर दोनों के बीच झगड़ा हो गया।

अधिकारी ने कहा, “शादी के बारे में पूछने पर उसने जोनाली के चेहरे पर कई वार किए, जिससे वह बेहोश हो गई।”

डॉक्टरों ने कहा कि उसे मारने के लिए एक कठोर वस्तु का इस्तेमाल किया गया था, जबकि हसनूर ने पुलिस को बताया कि उसने जोनाली के चेहरे पर तब तक वार किया जब तक वह बेहोश नहीं हो गई।

उपाध्याय ने कहा, “जब उसे पता चला कि वह मर चुकी है, तो उसने उसे सड़क के पास छोड़ दिया और चला गया। उसने कार पर उसका सिर भी पटक दिया। कार पर खून के धब्बे थे।”

पुलिस के अनुसार, कार पर लगे खून के धब्बे जोनाली के खून से मेल खाते थे, जिससे सत्यापित हो गया कि कार हसनूर की ही थी।

पुलिस ने कहा कि जब जोनाली को हसनूर की शादी के बारे में पता चला, तो उसने उसे फोन करना शुरू कर दिया, लेकिन हसनूर उसके सवालों को टालता रहा। हसनूर बाद में रविवार को उससे मिलने के लिए राजी हो गया और उसे मटिया बाजार इलाके में ले गया।

परिजनों के मुताबिक, जोनाली रविवार को किसी निजी काम के लिए शाम करीब साढ़े चार बजे घर से निकली थी। उसके पति ने उसे शाम 7 बजे के बाद फोन करने की कोशिश की, लेकिन बात नहीं हो सकी। जब परिवार के सदस्यों ने पुलिस से संपर्क किया तो आधी रात के आसपास जोनाली का शव पाया गया।

उपाध्याय ने कहा कि हसनूर ने शाम 7:13 बजे जोनाली का मोबाइल फोन बंद कर दिया था, क्योंकि वह अपनी साजिश में कोई रुकावट नहीं चाहता था। पुलिस ने उसके कॉल लॉग को स्कैन करने के बाद उसका पता लगाया।

इस बीच, जोनाली के कई समर्थकों ने दावा किया कि मारने से पहले उसके साथ दुष्कर्म किया गया था। हालांकि, जिला पुलिस अधीक्षक राजेश रेड्डी ने बताया कि कोई यौन हमला नहीं हुआ था।

रेड्डी ने कहा, “चिकित्सकों के अनुसार शरीर पर यौन उत्पीड़न का कोई निशान नहीं था। मामले के बारे में और जानकारी हासिल करने के लिए हम आरोपियों से पूछताछ कर रहे हैं।”


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *